Sale!

Isi Sadi Ke Asur (इसी सदी के असुर)

80

स्टोरीटेलर अश्विनी कुमार पंकज के शब्दों में झारखंड के आदिवासी जन-जीवन और संघर्ष की अनकही और अनसुनी कहानियां

Compare

Description

इस संग्रह में संघर्षरत झारखंड के आदिवासी समाज की कहानियां हैं। लूट, विस्थापन, बेदखली, भ्रष्टाचार और राजकीय दमन से जूझती आदिवासी समाज की कहानियां। स्टोरीटेलर अश्विनी कुमार पंकज की ये कहानियां नवगठित झारखंड राज्य के पहले एक दशक के आदिवासी-सदान जीवन के संघर्ष और और उसकी जटिलताओं को कलात्मक ढंग से पेश करती हैं। जहां खनन और उद्योग के लिए देशी-विदेशी बहुराष्ट्रीय कंपनियों के साथ सैंकड़ों करार किये गये। लेकिन किसी भी सरकार ने जन-आधरित विकास और गवर्नेंस पर ध्यान नहीं दिया। लिहाजा गरीबी, भूख और बेदखली से जूझती झारखंडी जनता राज्य में चहुंओर तीव्रतम संघर्ष का परचम थामे हुए है और शहादतें दे रही है।

Reviews

There are no reviews yet.

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.